Home 1

संस्थान चतुर्भुज

स्वास्थ्य

महिला सशक्तिकरण

*संस्थान चतुर्भुज श्री राम मंदिर, माण्डव* वर्षों से  वनवासी क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के कार्यों में अपनी भागीदारी निभा रहा है । संस्था का मुख्य उद्देश्य वनवासी एवं गरीब लोगों को मुख्य रूप से शिक्षा, स्वास्थ्य, जीवनाउपार्जन (लाइवलीहुड ),आध्यात्मिक धार्मिक, भारतीय संस्कृति,परम्परा से जोड़कर जीवन जीवन उपार्जन के संसाधन उपलब्ध करवाना है। हम यह कार्य पूर्ण समर्पण निष्ठा के साथ एकात्मकता से करने के लिए प्रतिबंध है ,हम यह कार्य पुणे ता नियोजित तरीकों से रोड मैप तैयार करके करते हैं। हम वनवासी ,आदिवासी ,गरीब तबके के लोगों को सामाजिक ,आर्थिक ,मनोवैज्ञानिक ,आध्यात्मिक रूप से सशक्त करने में समन्वय एवं पूर्ण नियोजन के साथ भागीदारी निभाते हैं।

संकल्पना और अभियान

हमारी दृष्टि
वनवासी (जनजाति) युवा बालिकाओं और महिलाओं को विकास की मुख्यधारा से जोड़कर उन्हें सामाजिक, आर्थिक, आध्यात्मिक, सांस्कृतिक एवं स्वास्थ्य की दृष्टि से सुदृढ़ बनाना

अभियान

IMG-20200221-WA0007

हमारे कार्य

स्वास्थ्य

स्वस्थ समाज स्वस्थ राष्ट्र वनवासी क्षेत्र में युवा महिलाएं बालिकाएं एवं सभी जन यदि स्वस्थ होंगे तो निश्चित तौर पर उनकी कार्यशैली एवं जीवन शैली सशक्त होगी हमारी संस्था मुख्य रूप से बालिका और महिलाओं के स्वास्थ्य के प्रति अपने दायित्व का पूर्णरूपेण निरवहन करती है संस्था द्वारा समय-समय पर आसपास के क्षेत्र में महिला डॉक्टर द्वारा परीक्षण करने के साथ महिलाओं के पोषण आहार की निगरानी करना एवं उनके प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत करने के लिए जागरूक करने के लिए संस्था प्रतिबद्ध है ।

IMG-20200221-WA0009

महिला सशक्तिकरण

समाज में सदियों से ही महिलाओं का स्थान गौरवशाली रहा है ,पौराणिक कथा एवं इतिहास इस बात के साक्षी हैं, कि महिलाएं हमारी संस्कृति में केवल पुज्य ही नही बल्कि समाज को नेतृत्व भी प्रदान करने में अपनी महत्वपूर्ण एवं अग्रणी भूमिका सुनिश्चित की है ।महिलाओं को क्षमता, समानता, गरिमा के आधार पर महिलाओं को विकास की धारा में लाने के लिए हमारी संस्था प्रतिबद्ध तो है की बल्कि उनके सशक्तिकरण में अपनी महती भूमिका के लिए समर्पित भी है ।संस्था का मुख्य उद्देश्य वनवासी क्षेत्र की महिलाओं एवं बालिकाओं को स्वावलंबी बनाने के साथ सकारात्मक दृष्टिकोण का स्थाई भाव बनाना भी है। साथ ही बालिकाओं को आध्यात्मिक एवं धार्मिक संस्कारों से जोड़ना एवं उनमें प्रकृति प्रेम जागृत करना है ,जिससे वे अपने आगे आने वाली पीढ़ियों को सुसंस्कृत करने के साथ सामाजिक आर्थिक ,मनोवैज्ञानिक दृष्टि से सशक्त बना पाए।

पर्यावरण

पर्यावरण के बिगड़ते स्वरूप से वनवासी क्षेत्र के जन-जन को जागरूक कर युवा ,बच्चों ,महिलाओ,वृद्धों को पर्यावरण के प्रति जागरूक कर पर्यावरण के विभिन्न कार्य जैसे वृक्षारोपण ,मिट्टी के कटाव को रोकना ,जंगलों को आग से बचाना, जैव वविविधता संरक्षण एवं संवर्धन,भूजल स्तर बढ़ाने विलुप्त होती वनस्पति एवं जीव की प्रजातियां के संरक्षण में अपनी महती भूमिका को सुनिश्चित करना है ,इसी के साथ जन-जन में पर्यावरण अनुराग को बढ़ाना संस्था का उद्देश्य है इसी के साथ कृषि विकास को बड़ा बढ़ावा देना सघन खेती की योजना बनाकर आवश्यक कृषि के संसाधनों का आकलन कर योजना तैयार कर कार्यशाला का आयोजन कर जन-जन को जागृत करना है इसी के साथ साथ जल संरक्षण हेतु जनशक्ति को जोड़ना एवं प्रकृति वन रोपण और संरक्षण में जन जन की भागीदारी सुनिश्चित करना है। इसी के साथ वनवासियों के लिए वन उत्पादन का सही तरीके से उपभोग एवं उपयोग हेतु जागृति लाना है ,वनवासी, आदिवासी ,युवा एवं बालिकाओं के उज्जवल भविष्य हेतु उन्हें वैज्ञानिक,आध्यात्मिक धार्मिक सामाजिक,परंपराओं से जोड़कर उन्हें राष्ट्र निर्माण में मुख्य धारा में लाना।इसी के साथ प्राकृतिक रूप मजबूत कर सांस्कृतिक रूप से समृद्द कर अपने जीवन को एवं अपने से जुड़े लोगों को समाज में सक्षम और देश को समृद्ध बनाने में अहम भूमिका निभाना है।

परिचय

1 हम कौन हैं
संस्थान चतुर्भुज श्री राम मंदिर, माण्डव 48 वर्षों से भारत में काम कर रहे एक गैर-लाभकारी संगठन है, जो गरीबी और सामाजिक अन्याय को कम करने पर ध्यान केंद्रित कर रहा है। हम स्वास्थ्य, शिक्षा, आजीविका और पर्यावरण के क्षेत्र में योजनाबद्ध और व्यापक परियोजनाओं के माध्यम से कार्य करता है। हमारा समग्र लक्ष्य जनजातीय समाज, गरीब और निराश्रित समुदायों की महिलाओ, युवा, लड़कियों एवं वृद्धों का सशक्तिकरण है जिससे उनके जीवन और आजीविका में सुधार हो रहा है।
2. बुनियादी मूल्य
चतुर्भुज श्री राम मंदिर अपने कर्मचारियों को संगठन के इन परिभाषित मूल मूल्यों को आत्मसात करने, आंतरिक बनाने और प्रदर्शित करने के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित करने की दिशा में काम करता है।
1 आदर एवं सम्मान – सभी मनुष्यों की गरिमा और क्षमता पर विश्वास करना एवं उन्हें उचित आदर एवं सम्मान प्रदान करना ।
2 अखंडता – सामाजिक, नैतिक और संगठनात्मक मानदंडों को बनाए रखना और नियमों का पालन करना।
3 प्रतिबद्धता – हमारे कर्तव्यों और जिम्मेदारियों के प्रति पूर्ण प्रतिबद्धता के साथ संगठनात्मक लक्ष्यों को पूरा करना।
4 उत्कृष्टता – उच्च प्रदर्शन मानकों को स्थापित करना और काम के प्रति जिम्मेदार और दायित्वों का पूर्ण रूप से निर्वहन करना ।
5 संपूर्णता – कार्यों को पूर्ण निष्ठा एवं सम्पूर्णता के साथ से पूरा करना

हमारा कार्य क्षेत्र*संस्थान चतुर्भुज श्री राम मंदिर, माण्डव* वर्षों से  वनवासी क्षेत्र में विभिन्न प्रकार के कार्यों में अपनी भागीदारी निभा रहा है । संस्था का मुख्य उद्देश्य वनवासी एवं गरीब लोगों को मुख्य रूप से शिक्षा, स्वास्थ्य, जीवनाउपार्जन (लाइवलीहुड ),आध्यात्मिक धार्मिक, भारतीय संस्कृति,परम्परा से जोड़कर जीवन जीवन उपार्जन के संसाधन उपलब्ध करवाना है। हम यह कार्य पूर्ण समर्पण निष्ठा के साथ एकात्मकता से करने के लिए प्रतिबंध है ,हम यह कार्य पुणे ता नियोजित तरीकों से रोड मैप तैयार करके करते हैं। हम वनवासी ,आदिवासी ,गरीब तबके के लोगों को सामाजिक ,आर्थिक ,मनोवैज्ञानिक ,आध्यात्मिक रूप से सशक्त करने में समन्वय एवं पूर्ण नियोजन के साथ भागीदारी निभाते हैं।

*सुविधाएँ*:

* उत्तम स्वास्थ्य के लिए चिकित्सा सुविधा|
* शुद्ध एवं सात्विक भोजन सुविधा|
* प्रकृति से संवाद एवं आत्मिक सम्बन्ध|
* योग, ध्यान, आध्यात्मिक, प्राकृतिक चिकित्सा सुविधा|
* प्राकृतिक वातावरण में प्रकृति के आनंद की सुविधा|
* पूर्ण पारिवारिक परिवेश ।
* स्वच्छ एवं समस्त सुविधा युक्त आवास सुविधा ।
* उत्तम शैक्षिक सुविधा एवं रुचिअनुसार उच्च अध्ययन सुविधा (निराश्रित बच्चों के लिए ) |
* संस्कार, संस्कृति एवं आध्यात्मिक शिक्षा में विशेष ध्यान।
* योग, ध्यान एवं प्रार्थना से उज्जवल भविष्य निर्माण ।
*रामाश्रय स्थल*:- चतुर्भुज श्री राम मंदिर ,माण्डव ( धार ) म.प्र.
*सम्पर्क सूत्र*:-9893200011,942403211

हमारे सहयोगी संस्था -

  • स्वामी विवेकानंद योग अनुसंधान संस्थान, बेंगलूरु शाखा- भोपाल (मध्यप्रदेश)
  • माँ अनंता अभ्युदय सामाजिक सेवा समिति माण्डव,मध्यप्रदेश
  • विंध्या शिक्षा प्रचार समिति भोपाल (मध्यप्रदेश)

भागीदारी

रामजी परिवार में शामिल (GET INVOLVED IN RAMJI FAMILY)
• व्यक्तिगत (Individual)
क्षमता के अनुसार हम सभी हमेशा अपने आसपास कमज़ोर लोगों की मदद कर सकते हैं। संस्था के कार्यो एवं हमारे अभियानों में जुड़ाव या समुदायों के साथ सीधे काम करने के अवसरों को स्वेच्छा से करने या आर्थिक सहयोग देकर संस्थान चतुर्भुज श्री राम मंदिर माण्डव परिवार में शामिल हो और हमारे साथ काम कर सकते हैं, जिनसे आप वनवासी जनजाति युवा बालिकाओं और महिलाओं को विकास की मुख्यधारा से जोड़कर उन्हें सामाजिक, आर्थिक आध्यात्मिक, सांस्कृतिक एवं स्वास्थ्य की दृष्टि से सुदृढ़ बनाना और कमज़ोर लोगों के लिए काम करने के हमारे प्रयास का हिस्सा हो सकते हैं।

• संगठनात्मक(ORANIZATIONAL)
हमारे जैसे विकासशील देशों के मामले में, परिवर्तन को सक्षम करने और अधिक स्थायी परिणामों के लिए विकास को गति देने के लिए अधिक परोपकारी निवेशों की सख्त आवश्यकता है। भारत जैसे देश जहां सामाजिक आर्थिक गतिशीलता जटिल और बहुमुखी हैं, अधिक व्यापक विकास और विकास के लिए संगठनात्मक संस्थागत समर्थन की आवश्यकता है। एक समाज के भीतर वांछित परिवर्तन और प्रभाव को प्राप्त करने के लिए कई वर्षों के निरंतर प्रयासों पर इस तरह की विकास पहल और परियोजनाओं की योजना बनाई जाती है।
संगठनात्मक वित्त पोषण आमतौर पर ऐसे बड़े पैमाने के काम के लिए संगठनों को बड़े अनुदान और मौद्रिक सहायता के रूप में होता है जिसमें व्यापक बजटीय समर्थन शामिल होता है। यह संस्थागत दाताओं से निरंतर समर्थन स्थिरता सुनिश्चित करता है और नीतिगत सुधार, वकालत, अनुसंधान और हस्तक्षेप की नई कार्यप्रणाली के माध्यम से अधिक प्रणालीगत और स्थायी परिवर्तन की अनुमति देता है। इसलिए इस तरह की फंडिंग राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आउटरीच के कैनवास को बढ़ाने में महत्वपूर्ण है ताकि मानव को अपनी पूरी क्षमता प्राप्त करने के समान अवसर सुनिश्चित किए जा सकें।
• अधिक जानकारी के लिए, कृपया हमें csrm.manadav@gmail.com पर लिखें
• हमारा पता
संस्थान चतुर्भुज श्री राम मंदिर, माण्डव जिला धार, मध्य प्रदेश