सपनों का एक गांव - रविंद्रनगर (मियांपुर) उत्तरप्रदेश | एक अहर्निश सेवायात्रा- दामोदर गणेश बापट जी | अंधकार में डूबे लोंगो को थमाई रोशनी की मशाल (उड़ीसा)’ |

सेवागाथा - राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के सेवाविभाग की नई वेबसाइट

परिवर्तन यात्रा

हरा भरा सुंदर गांव रविंद्रनगर

सपनों का एक गांव - रविंद्रनगर (मियांपुर) उत्तरप्रदेश

प्रदीप कुमार पाण्डेय

यह कहानी है प्रकृति व मानव की मित्रता की । 1947  में विभाजन की पीड़ा सहकर अपना सबकुछ खोकर शरणार्थी  बनकर आए बंगाली परिवारों के पुरूषार्थ की, जिन्होंने अपने परिश्रम से बालू की टीलों को लहलहाते खेतों में तब्दील कर दिया।  गुरूदेव रविंद्रनाथ ठाकुर क

और जानिये